शिशु विकास योजना [Application Form]

3
495
shishu vikas yojana

शिशु विकास योजना (shishu vikas yojana in hindi) भारत सरकार की बहुउदेशीय योजना है। इस पोस्ट में हम बताएँगे की शिशु विकास योजना क्या है, आप इस योजना में कैसे सम्मलित हो सकते है। शिशु विकास योजना एप्लीकेशन फॉर्म प्राप्त कैसे होगा तथा आप इसके लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे कर सकते है। साथ ही शिशु विकास योजना के नए केन्द्रो की भर्ती कब होगी।

shishu vikas yojana

केंद्र सरकार ने भारत के भविष्य को और मजबूत बनाने के लिए शिशु विकास योजना की शुरुआत की है। भारत सरकार की शिशु विकास योजना मुख्यतः छोटे बच्चे जिनकी उम्र 3 वर्ष से 6 वर्ष है उनके लिए प्रारम्भ की है।

जैसा की हम जानते है की छोटे बच्चे मिट्टी के कच्चे घड़े की तरह होता है उन्हें शुरुआती दिनों में जैसे बनाओ वैसे उनका विकास होता है। और 3 से 6 वर्ष की उम्र में शिशु का विकास सबसे तेज़ी से होता है। इसी को ध्यान रखते हुए भारत सरकार ने इस बहुद्देशीय योजना का सुभारम्भ किया है।

क्या है शिशु विकास योजना?

शिशु विकास योजना केंद्र सरकार चलाई जाने वाली बहुउद्देशीय योजना है चुकी हम जानते है बच्चो का विकास ६ साल तक सब से ज्यादा होता है इस कारण भारत सरकार ने भारत के कोने कोने में शिशु विकास केंद्र की स्थापना करने जा रही है।

इसके लिए भारत सरकार आंगनवाड़ी केन्द्रो का उपयोग भी करेगी तथा आंगनवाड़ी केंद्र के द्वारा शिशु विकास योजना को चलाया जायेगा।

शिशु विकास योजना के लिए भारत सरकार ने एक संदर्भिका प्रस्तुत की है जिसमे शिशु के लालन पालन के लिए जरुरी हर एक चीज को प्रस्तुत किया है जो की शिशु विकास केंद्रों तथा विद्यालयों द्वारा चलाई जाएगी। इसमें विशेष रूप से बच्चो के खानपान के साथ साथ परिवार की भूमिका का भी ध्यान रखा गया है। चुकी बचपन में बच्चो की प्रतिरोधक छमता को बढ़ाने के लिए पोस्टिक आहार का प्रावधान है। तथा नैतिक शिक्षा का भी ध्यान रखा गया है।

साथ ही खेल कूद का भी इसमें विवरण है की कैसे खेलो को बच्चो के विकास के लिए शामिल किया जाये। और कैसे खेल खिलोनो का उपयोग किया जाये जो की बच्चे को बौद्धिक छमता को बढ़ाने में सहायक हो।

इस पुस्तिका को आंगनवाड़ी तथा विद्यायलिन में अनिवार्य रूप से सम्मलित किया जाना है और माता पिता के लिए भी ऐसे दिया जाना है जिस से की माता पिता को भी इस योजना में सम्मलित हो सके।

शिशु विकास योजना के लाभ

  • शिशु का पूर्ण विकास योजना जिस से की बचपन से ही शिशु का ध्यान रखा जाये।
  • सभी जरुरी टिकाकरण जानकारी जिस से की शिशु की प्रतिरोधक छमता बड़े।
  • पोस्टिक आहार की जानकारी तथा शिशु विकास केंद्र के माध्यम से पोस्टिक आहार का वितरण।
  • पारिवारिक वातावरण को उत्कृष्ट बनाए पर ध्यान से बच्चे की नैतिक शिक्षा पर ध्यान।
  • शिक्षकों द्वारा छोटे बच्चो की मासिक विकास पर ज्यादा ध्यान।

शिशु विकास योजना के बारे में अगर आप के मन में कोई भी सवाल हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है साथ ही अगर आप को लगता है की शिशु विकास योजना की जानकारी में कुछ और अपडेट या हटाया जाना चाहिए उसे भी आप कमेंट कर के बता सकते है। अगर आप को पोस्ट अच्छा लगा है तो आप ऐसे शेयर करे धन्यवाद्।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here