पुष्प क्रांति योजना – हिमाचल प्रदेश

0
12
पुष्प-क्रान्ति

पुष्प क्रान्ति हिमाचत प्रदेश की बहुत ही हितग्राही और किसानो की उन्नति में योगदान करने वाली योजना है। इस पोस्ट में हम पुष्प क्रान्ति योजना के बारे में बात करेंगे – जैसे पुष्प क्रान्ति योजना क्या है। पुष्प क्रान्ति योजना के लाभ। इसके लिए पात्रता क्या है। और इसके लिए आप कैसे आवेदन कर सकते है?

पुष्प क्रान्ति

हिमाचल प्रदेश कई प्रकार के फूल उत्पादन के मामले में भारत में नंबर वन है हिमाचल के किसानो की उत्पादकता को बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने एक नयी योजना की शुरुआत की है जिसे पुष्प क्रांति योजना नाम दिया गया है। इस योजना के तहत किसानो को फुलो के उत्पादन को बढ़ाने तथा उनके रख-रखाव से सम्ब्नधित दिशा निर्देश दिए जायेंगे।

इस योजना के अंतर्गत किसानो को उच्च तकनीक वाले पोली हाउस, प्रशिक्षण तथा अन्य साधन प्रदान किये जायेंगे । पुष्प क्रांति योजना के अंतर्गत युवाओ को रोजगार दिलाने के उद्देश्य से लोन उपलब्ध कराने की पहल भी की है। इस योजना के द्वारा किसान फुलो की खेती करके अच्छी कमाई कर सकते है॥

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने बजट भाषण में ये घोषणा की थी राज्य सरकार हिमाचल को पुष्प राज्य का दर्जा देना चाहती है। इस योजना के लिए हिमाचल प्रदेश के सिचांई,लोक स्वास्थय और बाग़वानी के मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने केंद्र सरकार से 150 करोड़ रुपये की मांग की है इस योजना के तहत हिमाचल पुष्प हर्ट्स बसों के द्वारा अन्य बाजारों में भेजे जाते है जिसके लिए राज्य सरकार के द्वारा बस किराया 25 प्रतिशत तक काम किया जाएगा जिस से किसानो को प्रोत्सान मिले

हिमाचल पुष्प क्रांति योजना का उद्देश्य:-
इस योजना का मुख्य उद्देश्य हिमाचल के पड़े लिखे बेरोजगारो को रोजगार उपलब्ध करवाना है इस योजना के द्वारा बेरोजगार युवा खेती की और प्रेरित होंगे।पुष्प क्रांति योजना के हिमाचल में शुरू होने से बहुत से युवाओ को इस योजना का लाभ मिलेंगा।इस योजना के द्वारा युवा किसान फुलो की खेती करके अच्छी कमाई कर सकते है पुष्प क्रांति योजना के तहत सरकार की तरफ से आपको लोन/अनुदान की सुविधा मिलेंगी जिस से आप इस योजना को अच्छे से शुरू कर पाए॥

पुष्प क्रांति योजना के लाभ

  1. हिमाचल प्रदेश में मौसम पुष्प उत्पादन के अनुकूल है जिस से पुष्प उत्पादन की बेहतर सम्भावनाये है।
  2. इस परियोजना के लिए राज्य सरकार द्वारा बाग़वानी विकास मिशन के अंतर्गत 23.06 करोड़ रुपये की लागत से फुलो वा फसलों को अतिवृष्टि से बचाया जाएगा।
  3. पुष्प क्रांति योजना के तहत राज्य सरकार ने बाग़वानी के लिए 120 करोड़ रुपये,कृषि विकास के लिए 60 करोड़ रुपये और मधुमक्खी पालन के लिए 15.11 करोड़ रुपये की मांग केंद्र सर्कार से की है।
  4. फुलो की खेती करने से किसानो को मौसम से होने वाले नुकसान और जंगली जानवरो से होने वाले नुकसान से सुरक्षा मिलेंगी।
  5.  राज्य सरकार पुष्प क्रांति योजना के तहत युवाओ को ऋण सुविधा बी उपलब्ध करवाएगी।ताकि इस योजना का लाभ बेरोजगार युवा उठा सके।
  6. सरकार पुष्प खेती के लिए अधिक से अधिक युवाओ को आकर्षित करना चायती है इस से प्रदेश से पलायन रोकने और युवाओ की आमदनी बढ़ने में साहयता मिलेंगी॥

 

हिमाचल पुष्प क्रांति योजना के लिए आवेदन कैसे करे

  1. इस योजना का लाभ उठाने के लिए आप अपने इलाके के बाग़वानी निर्देशक से सम्पर्क कर सकते है।
  2. इस योजना को जल्द ही ऑनलाइन भी किया जाएगा । ताकि ज्यादा से ज्यादा से लोग ऑनलाइन आवेदन कर इस योजना का लाभ उठा सके।
  3. हिमाचल प्रदेश में पहले से ही सोलन,मंडी बिलासपुर वा हमीरपुर जिले में बड़े पैमाने पर पुष्प खेती की जाती है।

हिमाचल में इस समय 642 ,48 हैक्टैर भूमि पर खेती की जाती है 98 .51 हैक्टैर भूमि पर ही सरंछित खेती हो पाती है।राज्य में इस समय 5000 किसान और 8 पुष्प उतपादक समिति अपने कार्य में लगी हुई है पिछले साल राज्ये सरकार द्वारा बताये एक आकड़े के अनुसार 87 .25 करोड़ रुपये के फूल उघए गए।पुष्प क्रांति योजना में आपको उच्च तकनीक वाले पोली हाउस बनाने के लिए वित्तीय सहायता दी जाएँगी।जिन इलाको में परम्परागत खेती नहीं की जा सकती वह पोली हाउस की मदद से फसल के उपज की संभावना बढ़ती है फसल की उतपादकता वा गुणवदता बाद जाती है तथा बहुत कम क्षेत्र मे फसल उत्पादन करके अच्छी कमाई कर सकते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here