ईपीएफ (EPF) अकाउंट से एनपीएस (NPS) अकाउंट में पैसे कैसे डाले?

Technology and Money advice

ईपीएफ (EPF) अकाउंट से एनपीएस (NPS) अकाउंट में पैसे कैसे डाले?

transfer fund epf to nps

राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) में आप अपने रिटायरमेंट के लिए पैसे इकठ्ठा करने के साथ साथ अपना टैक्स भी बचा सकते है राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) भारत सरकार की बहुउद्देशय योजना है इसमें जमा पैसे पर आप धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक के कर लाभ उठा सकते है इसके अलावा आप अधिनियम की धारा 80CCD (1B) के तरह 50000 पर अतिरिक्त टैक्स बेनिफिट ले सकते है अर्थात आप राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत कुछ मिला कर 2 लाख रूपए पर टैक्स बेनिफिट ले सकते है।

transfer fund epf to nps

वही अगर हम कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) की बार करे तो आप को इसमें सिर्फ 1.5 लाख रूपए तक का ही टैक्स बेनिफिट मिलता है जो की आप को इनकम टैक्स की धरा 80C के तहत मिलता है मतलब आप इस पर सिर्फ 1.5 लाख रुपया तक ही बचा सकते है ।

पर अब आप के पास एक नया विकल्प है जिसमे आप अपने कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) की राशि को अपने राष्ट्रीय पेंशन योजना अकाउंट में डाल सकते है और एक्स्ट्रा टैक्स बेनिफिट के साथ अपनी पेंसन को भी सुरक्षित कर सकते है।

EPF से NPS पैसे ऐसे करे ट्रांसफर

EPF से NPS पैसे ट्रांसफर करने के लिए जरुरी है की आप के पास एक एक्टिव टियर 1 एनपीएस (NPS) अकाउंट हो ये अकाउंट आप के कंपनी के द्वारा भी खोला गया हो सकता है यदि आप के पास पहले से ही एक NPS अकाउंट है तो बहुत अच्छा है अगर आप के पास NPS अकाउंट नहीं है टी आप एनपीएस खाता खोलने के लिए ई-एनपीएस पोर्टल पर जा कर आवेदन कर सकते है।

आप के फण्ड को EPF अकाउंट से NPS अकाउंट में स्थानांतरण करने के लिए व्यक्ति के वर्तमान नियोक्ता (कंपनी) के माध्यम से मान्यता प्राप्त कर्मचारी भविष्य निधि या सुपरनेशन फंड से अनुरोध किया जाना चाहिए कि वह ईपीएफ या सुपरनेशन फंड खाते में शेष राशि को अपने एनपीएस खाते में स्थानांतरित कर दे।

आवेदन प्राप्त होने के बाद, मान्यताप्राप्त भविष्य निधि / सुपरनेशन फंड पीएफ / सुपरनेशन खाते में शेष राशि के हस्तांतरण को आरंभ करेगा। एनपीएस के नोडल कार्यालय (सरकारी कर्मचारियों के मामले में) या पीओपी संग्रह खाते के नाम पर एक चेक या ड्राफ्ट जारी किया जाता है जिस के पूर्ण होने पर आप की राशि का ट्रांसफर शुरू होता है।

आप को कंपनी को भविष्यनिधि कार्यालय से एक पत्र जारी किया जाता है जिस में कंपनी को सूचित किया जाता है की EPF अकाउंट की राशि की NPS टियर 1 अकाउंट में स्थानांतरित की जा रही है। इसके बाद कर्मचारी के एनपीएस टियर १ में राशि को ट्रांसफर किया जाता है।

 

 

Related post

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *