बाबा रामदेव लांच किम्भो पूर्ण स्वदेशी व्हाट्सअप

बाबा रामदेव लांच किम्भो पूर्ण स्वदेशी व्हाट्सअप

किम्भो patnjli chat app kimbho

बाबा रामदेव की पतंजलि आवुर्वेद ने अपनी स्वदेशी सिम लांच करने के कुछ ही दिनों बाद एक और धमाका करते हुए स्वदेशी चैटिंग एप्लीकेशन किम्भो का लांच किया है किम्भो एक संस्कृत शब्द है जिस का मतलब होता है ‘कैसे हो‘ और व्हाट्सप्प का मतलब भी हिंदी में ‘कैसे हो‘ होता है इसका मतलब रामदेव बाबा ने इंडिया का व्हाट्सप्प किम्भो लांच किया है जो की व्हाट्सअप की तरह ही चैटिंग के साथ साथ स्टेटस लगाना, वीडियो तथा फोटो को एक दूसरे को भेज सकते है साथ ही वॉइस कॉल के साथ साथ वीडियो कॉल भी कर सकते है|

किम्भो patnjli chat app kimbho

बाबा रामदेव के पतंजलि पर जितने भी जोक्स बनाये जाते है वो सब अब वास्तविक होते जा रहे है और ये कोई अफवाह नहीं है क्यों की किम्भो अब प्ले स्टोर के साथ साथ I Phone Users के लिए AppStore पर भी उपलभ्द है पतंजलि ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है । इसमें पतंजलि ने इसके फीचर भी बताये है|

किम्भो का ऐप आइकन व्हाट्सएप की एक स्पष्ट प्रति है, इसमें कोई स्पेशल फीचर नहीं है व्हाट्सप्प की तरह ही चैटिंग फीचर उपलभ्ध है पर ये स्वदेशी ब्रांड नाम के साथ है। यह मैसेजिंग, इंटरनेट का उपयोग करने के साथ-साथ फोटो, वीडियो, जीआईएफ इत्यादि के साझाकरण की अनुमति देता है। साथ ही इसमें व्हाट्सप्प की तरह ही end to end encryption का फीचर भी दिया है जो की इसे ज्यादा सुरछित बनता है Google Play store पर ऐप विवरण पृष्ठ पर, पतंजलि कम्युनिकेशंस ब्रांड नाम के साथ 100% मुफ़्त उपलभ्द करवाई गई है साथ ही ये विज्ञापन फ्री है जिस से की आप इसे उपयोग करते समय कोई भी विज्ञापन नहीं आएगा|

साथ ही किम्भो में AES encrypted मैसेज जायेंगे जो की ऐसे और सुरछित बनाते है । साथ ही ये ghost chatting के साथ साथ auto delete messages, wipe out feature से भी सुसज्जित है|

बहुत से लोगों ने शिकायत की है कि ऐप किसी भी पतंजलि सर्वर से कनेक्ट नहीं हो रहा है और उन्हें किम्बो पर अपने खाते की स्थापना के लिए ओटीपी नहीं मिल रहा है। इन समीक्षाओं में से कुछ के लिए पतंजलि संचार ने जवाब दिया है। इस तरह के एक जवाब में यह कहा गया, “अप्रत्याशित भारी यातायात के कारण, हम तकनीकी सर्वर की समस्या का सामना कर रहे हैं। हम एक घंटे के समय में चलेंगे और चलेंगे।”

वर्तमान में यह स्पष्ट नहीं है कि बाबा रामदेव और पतंजलि नियमित, बड़े पैमाने पर बाजार चैट ऐप के साथ क्यों आए हैं। हो सकता है कि उन्होंने भारत में व्हाट्सएप की सफलता देखी है और चैट राजस्व की विशाल राजस्व क्षमता का एक पाई चाहते हैं। या हो सकता है कि बाबा रामदेव आप और साथी भारतीयों को व्हाट्सएप के मालिक मार्क जुकरबर्ग के फेसबुक पर अपना डेटा देने के बजाए स्वदेशी चैट ऐप का उपयोग करने के लिए चाहते हैं। हालांकि, किम्बो स्पष्ट करता है कि अन्य चैट ऐप्स के विपरीत यह किसी भी संदेश या डेटा को संग्रहीत नहीं करता है, जो इस बात पर भी सवाल उठाता है कि संदेश कैसे रिले करने के लिए कोई सर्वर शामिल नहीं है। “हम अपने सर्वर या क्लाउड पर कोई डेटा नहीं सहेजते हैं,” यह कहता है।

भारत में, व्हाट्सएप में 200 मिलियन से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं।

अभी प्ले स्टोर पर इसकी 4 स्टार रेटिंग है जो की 3000 लोगो द्वारा दी गई है जो की व्हाट्सप्प से काम है साथ ही इसके लांच करने के कुछ समय बाद ये प्ले स्टोर पर से दिखना बंद हो गई थी अभी इसके डोलोड बढ़ते जा रहे है|

Related post

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *